Monthly Archives: अगस्त 2010

कामन वेल्थ खेलो का गीत उसके भावार्थ सहित…

पेश है कामन वेल्थ खेलो का गीत उसके भावार्थ सहित.. प्रसंग : ये पद्य हमने कामन वेल्थ खेलो के गीत से लिया है.. यहां पर नेता अपनी कमाई की खुशी मे जोर जोर से गीत गा रहा है.. गीत का … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 6 टिप्पणियाँ

नेता का सरकारी झपट्टा..

एक नेता बहुत ही परेशान था, उसके साथ के कई नेता चारा, सडक, डामर, पनडुब्बी, तोप, प्रोविडेंड फंड, रिश्वत खा कर, और ईमान, धर्म, देश, न्याय, सुरक्षा बेच कर बहुत मोटे हो गये थे. नेता चूंकि खेल संघ का अध्यक्ष … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 2 टिप्पणियाँ